Friday, February 23, 2024
HomeLatest Newsआर्थिक पैकेज भाजपा का झुनझुना:अभिमन्यु गुप्ता

आर्थिक पैकेज भाजपा का झुनझुना:अभिमन्यु गुप्ता

कानपुर,आर्थिक तंगी,डूबती अर्थव्यवस्था व कमरतोड़ महंगाई के खिलाफ आज समाजवादियों ने 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज को झुनझुना बताते हुए थाली व झुनझुना बजाकर सत्याग्रह करते हुए भाजपा सरकार को इतिहास की सबसे ज़्यादा झूठी व महंगाई देने वाली सरकार बताया।नेतृत्व कर रहे सपा व्यापार सभा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि 20 लाख करोड़ के झुनझुने ने केवल जनता को हमेशा की तरह झूठी उम्मीदों के सपनों में फंसा दिया।किसी को भी 1 रुपये की सीधी मदद नहीं मिली 20 लाख करोड़ के झुनझुने वाले पैकेज से।आर्थिक तंगी की वजह से लोग आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैं।भाजपा सरकार न कोरोना को रोक पाई और कोरोना काल में न ही सीमाओं को सुरक्षित रख पाई।प्रधानमंत्री को झूठ बोलना पड़ रहा है कि कोई घुसपैठ हुआ ही नहीं जबकि रक्षा मंत्रालय कह रहा है घुसपैठ हुआ।भाजपा सरकार में न ही कारोबार बचा ना रोजगार। अर्थव्यवस्था में भारी गिरावट दर्ज है।जीडीपी शून्य तक पहुंच गई है। बैंक डूब रहे हैं, जमा राशि पर ब्याज घटता जा रहा है। परेशान हाल लोग अपने पीएफ से पैसे निकालने को मजबूर हैं। श्रमिक विस्थापन के दौर में कई लोगों ने अपने करीबियों को खोया है। भाजपा सरकार की गलत नीतियों के चलते जनता मानसिक रूप से नाउम्मीदी की शिकार होती जा रही है।महंगाई चरम पर है।पेट्रोल डीजल का मूल्य,रसोई गैस का मूल्य,सब्ज़ियों का मूल्य आसमान छू रहा है।पेट्रोल डीजल,रसोई गैस व बिजली को वन नेशन वन टैक्स के वादे के बावजूद जीएसटी में नहीं रखा जा रहा है।व्यापारी, किसान, नौजवान उपेक्षित हैं।ऐसी किंकर्तव्य विमूढ़ सरकार से किसी को उम्मीद नहीं रही।मांग रखी गई कि 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज से हर ज़रूरतमंद को सीधी मदद की व्यवस्था की जाए,एक भी आत्महत्या आर्थिक तंगी से न हो सरकार ये सुनिश्चित करे,और पेट्रोल,डीजल,गैस,बिजली को जीएसटी के अंतर्गत लाया जाए,सब्ज़ियों के दाम नियंत्रित किये जायें।अभिमन्यु गुप्ता,संजय बिस्वारी, विनय कुमार,सहज प्रीत सिंह,मनोज चौरसिया,शेषनाथ यादव,मालू गुप्ता,गुड्डू यादव,विनय साहू,मो0 इमामुद्दीन,अमित तिवारी,करन साहनी,ऋषभ भट्ट,नरेंद्र विश्कर्मा आदि थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular