Monday, May 20, 2024
HomeLatest Newsऑपरेशन-विजय के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने संजीत यादव कांड में पीड़ित परिजनों से...

ऑपरेशन-विजय के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने संजीत यादव कांड में पीड़ित परिजनों से मुलाकात कर हर संभव न्याय का दिलाया भरोसा

संजीत यादव कांड पर ऑपरेशन-विजय के राष्ट्रीय अध्यक्ष नें मुख्यमंत्री को लिखा पत्र सी.बी.आई. जांच सहित रखी सात मांगे

कानपुर पुलिस ने संजीत यादव के परिजनों के साथ किया अपराधियों जैसा बर्ताव- शिवमंगल सिंह

संजीत यादव कांड पर ऑपरेशन- विजय की इन्वेस्टिगेशन टीम द्वारा की गई जांच में हुआ सनसनीखेज खुलासा-शिवमंगल सिंह

गैर राजनीतिक अभियान “ऑपरेशन-विजय” बुराइयों के खिलाफ जंग के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवमंगल सिंह {आई.पी.} ने अपनी 5 सदस्य टीम के साथ संजीत यादव कांड में पीड़ित परिजनों से मुलाकात करते हुए बताया, कि “ऑपरेशन-विजय” बुराइयों के खिलाफ जंग द्वारा इस कांड पर एक जांच टीम गठित की गई थी, जिसमें अपराधियों के साथ-साथ पुलिस की पूरी तरह से संलिप्तता पाई गई है, जिसके आधार पर उत्तर प्रदेश पुलिस से संबंधित किसी भी जांच एजेंसी द्वारा जांच करने पर पीड़ित परिवार को न्याय मिलना संभव न मानते हुए हमने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी को पत्र लिखकर सीबीआई जांच सहित सात निम्न प्रमुख मांगे रखी है।

1 – पीड़ित परिवार का अब कमाने वाला कोई भी नहीं बचा इसलिए पीड़ित परिवार को एक करोड़ की सहायता राशि दी जाए व यह राशि आपके नियमानुसार दोषी पुलिसकर्मियों से ही वसूली जाए।
2- संजीत यादव की बहन रुचि को जिसकी अभी शादी नहीं हुई है, सरकारी नौकरी दी जाए।
3- इस मामले में आरोपियों से मिलीभगत में पुलिस विभाग के अपराधियों से सांठगांठ करने में माहिर इंस्पेक्टर रंजीत राय का नाम शामिल है, इसलिए जांच पूरी होने व आरोपी को सजा मिलने तक परिवार को सरकारी खर्चे पर सुरक्षा प्रदान की जाए।*
4-संजीत यादव कांड में एस पी अपर्णा गुप्ता, सी ओ मनोज गुप्ता, इंस्पेक्टर रणजीत राय, चौकी इंचार्ज राजेश कुमार, स्वाट टीम प्रभारी दिनेश यादव पर पद का दुरुपयोग, विभागीय काम में लापरवाही, सरकारी काम में बाधा, गैरकानूनी कार्यो में संलिप्तता, साक्ष्य छिपाना, गैर इरादतन हत्या, घूसखोरी, अपराधियों से सांठगांठ, शहर में शांति भंग का माहौल उपस्थित करना, पीड़ित पक्ष को गुमराह करना एवं उनके जान माल के लिए असुरक्षा पैदा करने आदि उपयुक्त धाराओं में मुकदमा दर्ज कर तत्काल गिरफ्तारी की जानी चाहिए।
5 -अपराधियों से सांठगांठ करने वाले उपरोक्त एवं अन्य पुलिस कर्मियों को चिन्हित करते हुए उन्हें पुलिस विभाग से बर्खास्त कर उनकी संपत्ति की जांच कर स्थिति स्पष्ट की जाए।
6- संजीत यादव कांड जिसमें पुलिस व अपराधियों की बराबर की हिस्सेदारी स्पष्ट है, जिस कारण इस कांड की निष्पक्ष जांच उत्तर प्रदेश की किसी भी एजेंसी से संभव नहीं है, इसलिए इस कांड की सी.बी.आई. जांच कराई जाए।
7- साथ ही कानपुर सहित पूरे उत्तर प्रदेश को पूरे देश में बदनाम करवाने के जिम्मेदार सीनियर पुलिस अधिकारियों पर भी कार्रवाई की जाए, जो अपने नीचे इस तरह के भ्रष्ट व अपराधी प्रकृति के पुलिसकर्मियों को पहचानने व उन पर कार्रवाई करने में नाकाम रहे।
साथ ही उन्होंने पत्र में यह भी लिखा कि, यदि “ऑपरेशन-विजय” बुराइयों के खिलाफ जंग द्वारा पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने हेतु रखी गई मांगे नहीं मानी जाती तो “ऑपरेशन-विजय” संजीत यादव कांड सहित, उत्तर प्रदेश के सभी प्रमुख पीड़ितों को साथ लेकर सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होगा।

RELATED ARTICLES

19 COMMENTS

  1. лазерная сварка оборудование [url=http://apparat-ruchnoy-lazernoy-svarki.ru/]http://apparat-ruchnoy-lazernoy-svarki.ru/[/url] .

  2. оборудование для диспетчерских [url=https://oborudovanie-dispetcherskih-centrov.ru/]https://oborudovanie-dispetcherskih-centrov.ru/[/url] .

  3. дробеструйная обработка оборудование [url=http://www.drobestruynaya-kamera.ru/]http://www.drobestruynaya-kamera.ru/[/url] .

  4. механизированная штукатурка стен в москве [url=https://www.mekhanizirovannaya-shtukaturka13.ru]механизированная штукатурка стен в москве[/url] .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular