Monday, May 20, 2024
HomeLatest Newsतुगलकी फरमान का विरोध अभिभावकों ने मांगी भीख

तुगलकी फरमान का विरोध अभिभावकों ने मांगी भीख

कानपुर, आल पैरेंट्स ग्रुप के तत्वावधान में विभिन्न स्कूलों के अभिभावकों ने नो स्कूल – नो फीस के नारे के साथ कोरोना महामारी लाॅक डाउन मे पिछले 5 माह से बन्द स्कूलो के बावजूद स्कूल प्रबंधकों द्वारा निरन्तर फीस जमा करने का दबाव बनाए जाने एंव फीस ना जमा करने पर नाम काट देने की धमकी दिये जाने और अब उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा का तुगलकी फरमान जिसमे फीस जमा करने को सही करार दिया गया है पिछले पांच माह से बेरोजगार अभिभावकों ने बकरमंडी चौराहे पर राहगीरों से हाथ मे कटोरा लेकर भीख मांगी।सोशल एक्टिविस्ट एमएमए जौहर फैंस एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हयात ज़फर हाशमी ने भी अभिभावकों की इस मुहिम में साथ देते हुए हाथ में कटोरा लेकर राहगीरों को रोक रोक स्कूल प्रबंधको की धांधली और शोषण का विरोध किया।कार्यक्रम संचालक अभिभावक जावेद मोहम्मद खान ने कहा कि जब बच्चे स्कूल नही गये तो फीस कैसी और जब सरकार लाॅक डाउन मे एक दूसरे का ख्याल रखने और आर्थिक भार डालने से मना कर रही तो स्कूलों को भी फीस ना लेने का आदेश क्यों नही कर रही है।सोशल एक्टिविस्ट हयात ज़फर हाशमी ने कहा कि 20 लाख करोड़ का बजट सरकार द्वारा लाॅक डाउन अवधि में राहत कार्य हेतु पारित किया गया है।हमें चावल चना नही बच्चों का भविष्य चाहिए सरकार त्वरित फीस माफ का ऐलान करे। हाशमी ने डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के फरमान को तुगलकी फरमान बताते हुए इसे अभिभावकों का मजाक करार दिया।इस दौरान पुलिस कर्मियों ने भी आगे आकर भीख मांग रहे अभिभावकों को दान दिया सिपाही लुकमान व मुनीन्द्र चौधरी ने दान किया।रिक्शा चालक, तांगे वाले, विकलांग, महिलाओं, आटो चालकों ने भी दान कर सरकार को चेताया।इस मौके पर जावेद मोहम्मद खान, हयात ज़फर हाशमी, डॉ एफ आलम, नदीम सिद्दीकी,मोहम्मद फहीम, सुमित उपाध्याय, राकेश गर्ग आदि थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular