Saturday, April 20, 2024
HomeBreaking Newsथप्पड़ मारे, नाले में फेंका; जिंदा बचने पर गला घोंटा, दिल्ली पुलिस...

थप्पड़ मारे, नाले में फेंका; जिंदा बचने पर गला घोंटा, दिल्ली पुलिस हेड कांस्टेबल ने बताया कैसे मोनिका को दी दर्दनाक मौत

दिल्ली पुलिस की पूर्व कांस्टेबल मोनिका यादव की हत्या करने वाला सुरेंद्र पुलिस की गिरफ्त में है। पुलिस ने 30 पेज की चार्जशीट दाखिल की है। जिसमें राणा ने बताया है कि उसने कैसे मोनिका को मारा।

दिल्ली पुलिस की पूर्व कांस्टेबल मोनिका यादव मर्डर केस में पुलिस ने चार्जशीट फाइल कर दी है। इसमें आरोपी 42 साल के हेड कांस्टेबल सुरेंद्र सिंह राणा ने बताया है कि उसने किस तरह से मोनिका को दर्दनाक मौत दी थी। 28 साल की मोनिका ने राणा से शादी करने से मना कर दिया था। इसलिए उसने आठ सितंबर 2021 को उसकी हत्या कर दी और शव को एक नाले में फेंक दिया। वह उसे उत्तर पश्चिमी दिल्ली के मुखमेलपुर में एक सुनसान जगह पर ले गया। यहां उसे कई थप्पड़ मारे और फिर 25-30 मीटर की ऊंचाई से नाले में फेंक दिया लेकिन वह बच गई। इसके बाद राणा नाले की ओर गया और मोनिका का गला घोंटकर मार दिया। फिर उसके शव को पानी के अंदर फेंक दिया और उसपर पत्थर रख दिए। यह बातें चार्जशीट में लिखी गई हैं। पिछले साल सामने आए इस हत्याकांड ने दिल्लीवासियों को हैरान कर दिया था।

झूठ का जाल बुना

हत्या की क्रूरता को लेकर नए खुलासे डिस्क्लोजर बयान में सामने आए हैं। पुलिस ने 26 दिसंबर को दिल्ली की एक अदालत में 30 पेज की चार्जशीट दाखिल की है। पुलिस के अनुसार, राणा ने उसके परिवार को यह विश्वास दिलाया कि उसने भागकर अरविंद नाम के व्यक्ति से शादी कर ली है। इस तरह आरोपी ने हत्या को दो साल तक दबाए रखा। मोनिका की मां शकुंतला और बहन पूर्णिमा को इस बात पर शक हुआ और उन्होंने 20 अक्टूबर, 2021 को मुखर्जी नगर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। जिसमें उन्होंने कहा कि वे मोनिका से संपर्क टूटने के एक महीने बाद- 9 अक्टूबर को उसके पीजी गए थे। लेकिन वहां उन्हें वह नहीं मिली।

कैसे हुई मुलाकात

यादव 2014 में दिल्ली पुलिस में शामिल हुईं और उन्हें पुलिस नियंत्रण कक्ष (पीसीआर) इकाई में तैनात किया गया। यहीं उनकी मुलाकात राणा से हुई। आरोपी शादीशुदा है और उसका एक बेटा है। राणा ने कथित तौर पर डिस्क्लोजर बयान में कहा, ‘यादव मेरे साथ काम करती थी और धीरे-धीरे मेरी उससे दोस्ती बढ़ी और हम फोन पर बात करने लगे। मैं उसके घर भी नियमित रूप से जाता था। चूंकि उसके पिता का निधन हो गया था, उसके परिवार ने मुझ पर भरोसा करना शुरू कर दिया। मोनिका भी मेरे घर आती थी और धीरे-धीरे, मैं उसे पसंद करने लगा और चाहता था कि वह मेरी हो जाए।’

परिवार को लगी भनक

2020 में, यादव ने दिल्ली छोड़ दी और पढ़ाई के लिए अपने गृह नगर बुलंदशहर, उत्तर प्रदेश वापस चली गई। चार्जशीट के अनुसार राणा ने पुलिस को बताया, ‘मैं उसके बिना खुश नहीं था, और मेरा परिवार भी इस बात को लेकर मुझसे नाराज था। मैं चाहता था कि वह हर कीमत पर मेरी हो जाए। इसी बीच मेरे परिवार और ससुराल वालों को पता चल गया कि मैं मोनिका से शादी करना चाहता हूं। उन्होंने मुझे परेशान करना शुरू कर दिया और मेरी पत्नी ने भी मुझे छोड़ने की धमकी दी।’

तैयारी के लिए दिल्ली वापस आई

2 सितंबर, 2021 को यादव संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) परीक्षा की तैयारी के लिए दिल्ली आ गई। चार्जशीट के अनुसार राणा ने कहा, ‘मैं उस पर दिल्ली आने के लिए दबाव डालता और उसे दिल्ली और उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर मिलने के लिए बुलाता था। 2021 में, मोनिका अपनी यूपीएससी की तैयारी के लिए दिल्ली आ गई क्योंकि मैंने उसे इसके लिए मना लिया था। मैंने पीजी ढूंढने और संस्कृति आईएएस कोचिंग (सेंटर) में एडमिशन लेने में उसकी मदद की।’

प्रपोजल को नकारा

चार्जशीट के अनुसार, 8 सितंबर को राणा ने यादव को दोपहर 2.30 बजे उसके पीजी के बाहर से पिक किया और दोनों मुखर्जी नगर में वर्धमान मॉल गए, जहां उसने उसे प्रपोज किया। राणा ने कहा, ‘मैंने उससे कई बार मुझसे शादी करने का अनुरोध किया, लेकिन वह नहीं मानी। उसने कहा कि वह अभी शादी नहीं करना चाहती क्योंकि उसे अपने पिता के आईएएस अधिकारी बनने के सपने को पूरा करना है।’ दोनों ने एक आउटलेट पर बर्गर खाया और शाम 4.30-5 बजे तक मॉल से निकल गए। इसके बाद राणा यादव को यह कहकर अलीपुर स्थित अपने आवास पर ले गया कि उसकी बहन भी वहां मौजूद है।

थप्पड़ मारकर नाले में फेंका

 ने पुलिस को बताया, ‘मेरे मन में यह आ गया कि अगर मोनिका मेरी नहीं हुई तो मैं उसे किसी की नहीं होने दूंगा।’ दोनों बुधपुर के पास एक रिक्शे से उतरे, जहां एक सड़क का निर्माण हो रहा था। इस दौरान राणाम ने उसे फिर प्रपोज किया। इस बार भी उसने उसके प्रपोजल को ठुकरा दिया। डिस्क्लोजर बयान में कथित तौर पर आरोपी ने कहा, ‘मैंने उससे दोबारा पूछा कि क्या वह मुझसे शादी करना चाहती है, तो उसने मना कर दिया और कहा कि वह आगे पढ़ना चाहती है और आईएएस अधिकारी बनने के अपने पापा के सपने को पूरा करना चाहती है। हमारे बीच बहुत लड़ाई हुई। मैंने इसके उसे कई बार थप्पड़ मारे फिर उसे नाले में फेंक दिया लेकिन वह बच गई। उसने पुलिस बुलाने की धमकी दी, जिसके बाद मैंने उसका गला घोंट दिया और चट्टानों और पत्थरों के नीचे दबा दिया।

दो साल बाद मिली लाश

दो साल बाद, 30 सितंबर, 2023 को मोनिका के अवशेष नाले में पाए गए। आरोप पत्र में, पुलिस ने उल्लेख किया कि उन्होंने दो पैल्विक हड्डियां, हाथ के जोड़ का एक हिस्सा, फीमर की हड्डी, पसलियां और बांह की हड्डी समेत आठ सबूत बरामद हुए हैं। जिन्हें यादव की मां के डीएनए मैच के लिए भेजा गया था। पिछले साल दिसंबर में फोरेंसिक रिपोर्ट से साबित हुआ कि डीएनए शकुंतला यादव से मैच हुआ है यानि उनकी बेटा का है। वहीं कथित तौर पर अरविंग बनकर पीड़िता के परिवार को फोन करने वाला शख्स राणा का साला रविन निकला। उसने बताया कि अपनी बहन की शादी बचाने के लि उसने यादव के परिवार को फोन किए थे। राणा ने उसे इसके लिए मजबूर किया था। पुलिस ने उसे भी अरेस्ट कर लिया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular