Friday, February 23, 2024
HomeLatest Newsधूम्रपान के चलते 24 घंटो में 35 हजार बार अधिक धड़कता हमारा...

धूम्रपान के चलते 24 घंटो में 35 हजार बार अधिक धड़कता हमारा ह्रदय…ज्योति बाबा

कानपुर 25 जुलाई l सिगरेट के विज्ञापन पर ही इतना पैसा खर्च कर दिया जाता है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन का वार्षिक बजट भी इसके सामने कम पड़ जाए, धूम्रपान के कारण हृदय को 24 घंटे में 35000 बार अधिक धड़कना पड़ता है जो हृदयघात के लिए काफी है उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में विमला नर्सिंग एवं फार्मेसी कॉलेज कानपुर के सहयोग से कोरोना मिटाओ नशा हटाओ हरियाली बढ़ाओ अभियान के तहत वर्चुअल मीटिंग शीर्षक “भारतीय युवा, सिगरेट और कोरोना” पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कही,ज्योति बाबा ने आगे कहा सिगरेट के धुए में 4000 से ज्यादा खतरनाक रसायन पाए गए हैं जो न सिर्फ पीने वाले को प्रभावित करते हैं बल्कि उसके संपर्क में आने वालों को उससे भी ज्यादा रोगी बनाते हैं ऐसा माना गया है कि हर वर्ष दक्षिण एशिया में 40 लाख लोग तंबाकू सेवन के शिकार होकर असमय में ही मर जाते हैं तंबाकू से होने वाली बीमारियों का पता लगाने तथा उनके उपचार में प्रतिवर्ष करोड़ों अरबों रुपए खर्च हो जाते हैं, ज्योति बाबा ने कहा कि कोरोनावायरस से निबटने के लिए सिगरेट पर प्रतिबंध लगाना होगा, क्योंकि रिसर्च में आया है सिगरेट का धुआं भी कोरोना वायरस का वाहक हो सकता है l फैमिली हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ.अजीत सिंह ने कहा कि जिस पौधे को कीड़ा लग जाता है उसका जीवन रस सूख जाता है और असमय मुरझा कर खत्म हो जाती है इस प्रकार हम कह सकते हैं कि युवा वर्ग में किशोरावस्था में नशे की लत असमय काल में काल के गाल में समा देगी l अभी भी समय है हम नशा छोड़ें और ज्योति बाबा के नशा मुक्त युवा भारत अभियान को तन मन धन से सहयोग करें l कोरोना काल में नशे पर लगे प्रतिबंध के हट जाने से बहुत बुरा प्रभाव कोरोना जंग पर पड़ा है इसीलिए आज मलेरिया रोग की तरह कोरोना के रोगी बहुतायत में मिल रहे हैं l संविधान रक्षक दल के राष्ट्रीय संयोजक राजेंद्र कश्यप ने कहा एक सर्वे के अनुसार वैज्ञानिकों ने तंबाकू में अब तक जो 4000 प्रकार के विष खोजे हैं जिसमें निकोटिन विष खून में पहुंचकर शुक्राणुओं को क्षतिग्रस्त कर देता है जिससे जन्म लेने वाले शिशु में नाना प्रकार की बीमारियां हो जाती हैं और भविष्य में वह स्वता नशे के सेवन की ओर आकर्षित हो जाता है l युवा समाजसेवी विवेकानंद गिरि ने कहा कि अब समय आ गया है नशा मुक्त भारत के लिए हम सबको एक कदम बढ़ाना ही होगा, वरना हम अपने सामने अपने बच्चों की मौत देखने के लिए विवश होंगे l वरिष्ठ समाजसेवी मनोज कुमार पाल ने कहा अब तो भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने 15 अगस्त से उत्तर प्रदेश के 32 जिलों में नशा मुक्त भारत अभियान के तहत जन जागरूकता चलाने की घोषणा की है जिसका हम सहर्ष स्वागत करते हैं और इसमें हमारी संस्था योग ज्योति इंडिया बढ़ चढ़कर हिस्सा लेगी l मानवाधिकारवादी स्वामी गीता ने कहा दुखद पहलू यह है कि अब नशा करने में महिलाएं भी पीछे नहीं है जिससे परिवार को संभालने वाला शायद ना मिल पाए l वर्चुअल मीटिंग का संचालन आलोक मेहरोत्रा व धन्यवाद राकेश चौरसिया समाज चिंतक ने दिया l अंत में सभी को नशा एवं कोरोना मुक्ति की शपथ योग गुरु ज्योति बाबा ने दिलाई l वर्चुअल बैठक में अन्य प्रमुख विचारक सर्वश्री कृष्ण मोहन गिरी,महंत रामअवतार दास,रवि शुक्ला,दिलीप सैनी, उमेश शुक्ला इत्यादि थे l

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular