Wednesday, February 28, 2024
HomeLatest Newsपत्रकार के हमलावर का संरक्षक बना थाना कर्नलगंज

पत्रकार के हमलावर का संरक्षक बना थाना कर्नलगंज

कानपुर,अगर अपराध और अपराधियों को खाकी का संरक्षण प्राप्त हो जाए तो अपराधियों के हौसले कितने बुलंद होते हैं इसका जीता जागता उदाहरण चौबेपुर का बिकरु काण्ड है।
जहां खाकी वर्दीधारी ने ही दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पूर्व में सूचना देकर सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों को शहीद करवा दिया था।
कुछ ऐसे ही कर्नल गंज थाने में तैनात वर्दीधारी जनता के रक्षक जनता की सेवा ना कर अपराध व अपराधियों को संरक्षण दे रहे हैं।
विदित हो कि दिनांक 10/07/2020 को क्षेत्रीय दबंग अनस ने दिनांक 16/04/2020 को प्रकाशित समाचार से क्षुब्ध होकर वरिष्ठ पत्रकार मुकीम कुरैशी पर जानलेवा हमला कर दिया था।जिसकी सूचना थाना कर्नलगंज को दी गई लेकिन पुलिस ने अपने खास दलाल का सहयोग करते हुए ना तो पत्रकार की रिपोर्ट दर्ज की अपितु दबंग का सहयोग कर उसको मात्र सीआरपीसी की धारा 107/116 में पाबंद कर अपने कर्तव्य की इतिश्री कर ली।
इस संबंध में चौकी प्रभारी अहाता छोटे मियां राजकुमार सिंह से वार्ता करने पर उन्होंने बताया हम छुट्टी पर गए थे,लेकिन प्रभारी निरीक्षक ने मात्र 107/116 कर दिया है,अनस प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र विक्रम सिंह का खास है।प्रभारी निरीक्षक नहीं चाहते अनस पर किसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जाए।
इससे साफ जाहिर होता है योगी पुलिस अपनी अवैध कमाई के लिए अपराध और अपराधियों को संरक्षण दे रही है।योगी पुलिस की इसी लापरवाही के कारण कुछ दिन पूर्व जनपद उन्नाव के शुक्लागंज थाना क्षेत्र में स्थानीय पत्रकार शुभम मणि त्रिपाठी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular