Friday, April 19, 2024
HomeLatest Newsपेट्रोल डीजल मूल्यवृद्धि के विरुद्ध समाजवादियों का अनूठा विरोध

पेट्रोल डीजल मूल्यवृद्धि के विरुद्ध समाजवादियों का अनूठा विरोध

कानपुर, समाजवादी पार्टी समर्थित उत्तर प्रदेश प्रान्तीय व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करते हुए अपने साथियों के साथ आरटीओ में पेट्रोल डीजल मूल्यवृद्धि के विरुद्ध प्रदर्शन कर रजिस्ट्रेशन निरस्त कर शुल्क वापस देने की मांग का ज्ञापन ये कहते हुए दिया की इतने महंगे पेट्रोल डीजल में वाहन का प्रयोग नामुमकिन हो रहा है और व्यापार ठप हो चुका है।उपपरिवहन आयुक्त कानपुर परिक्षेत्र देवेंद्र त्रिपाठी को ज्ञापन देते हुए उत्तर प्रदेश प्रान्तीय व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की साहब हमारा वाहन रजिस्ट्रेशन शुल्क वापस करवा दीजिये।इतने महंगे दौर में वाहन कैसे चलाएं।पेट्रोल डीजल मूल्यवृद्धि ने कमर तोड़ दी है और अब वाहन चला पाना असंभव ही दिखने लगा है।हमारा रजिस्ट्रेशन शुल्क वापस कर दीजिए और आगे भी कोई रेजिस्ट्रेशन करवाए तो उससे शुल्क मत लीजियेगा।घर के निजी वाहन और व्यापार में प्रयोग होने वाले ट्रक,छोटा हाथी,टेम्पो आदि सब अब हाथी लगने लगे हैं।अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की लॉकडाउन की मंदी की वजह से पहले ही कार,ट्रक,बस आदि की किश्त जमा करने में लाले पड़ गए और अब महँगे पैट्रोल डीज़ल की वजह से गाड़ी वाहन चलाना भी किसी सपने से कम नहीं है।लगातार रोज़ पेट्रोल डीजल की कीमतों बढ़ाई जा रही हैं।इसकी वजह से भाड़ा भी बढ़ गया है जिसकी वजह से आवश्यक वस्तुएं महंगी होती जा रही हैं और वो भी वापस हम ही प्रयोग करते हैं तो उस महंगाई का शिकार भी हम बन रहे हैं।अंतरराष्ट्रीय बजार में पेट्रोल डीज़ल सस्ता होने के बावजूद भारत सरकार देश को महंगा तेल दे रही है।साथ ही वन नेशन वन टैक्स के वादे के बावजूद पेट्रोल डीजल को जीएसटी में न लाकर देश की जनता के साथ धोखा कर रही है।सोचिये आज देश में डीज़ल अब पेट्रोल से भी महंगा हो गया है जो कि 70 साल में कभी नहीं हुआ।ये सब भाजपा सरकार की देन है। इससे माल-सामान का परिवहन व उत्पादन भी महँगा हो गाया और खेती-किसानी में सिंचाई की लागत भी बढ़ गई।व्यापारी उद्यमी रो रहे हैं क्योंकि वो आर्डर लेकर माल बनाते हैं और कीमत पहले से तय होती है।प्रदेश उपाध्यक्ष बॉबी सिंह ने कहा की अब तेल की कीमतें बढ़ने से लागत बढ़ जाएगी और कीमत पहले की ही मिलेगी।लगभग 20 प्रतिशत भाड़ा बढ़ा दिया है।मतलब व्यापारी ,किसान सबका नुकसान ही नुकसान।अभिमन्यु गुप्ता,बॉबी सिंह,राजेन्द्र कनौजिया,हरप्रीत सिंह बंटी,अमरजीत सिंह लाली,मन्नू सिंह,साजन भल्ला,त्रिलोचन सिंह आदि थे।

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular