Monday, May 20, 2024
HomeBreaking Newsबिजनेस में निवेश का लालच और लाखों की ठगी, पति-पत्नी ने पीड़ित...

बिजनेस में निवेश का लालच और लाखों की ठगी, पति-पत्नी ने पीड़ित को ऐसे फंसाया

नवी मुंबई के एक व्यक्ति से 23.38 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने के आरोप में एक कपल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। आरोपियों ने खुद को मुंबई सेंट्रल जेल के जेलर के रूप में पेश किया और पीड़िता को बिजनेस में पैसे लगाकर अच्छा फायदा कमाने का लालच दिया था।

नवी मुंबई में ठगी के लगातार मामले सामने आ रहे हैं। नया मामला ठाणे में सामने आया है, जहां एक शख्स को बिजनेस में निवेश का लालच देकर एक कपल ने 23.38 लाख रुपए ठग लिए। आरोपी कपल पति और पत्नी हैं। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस इस मामले की जांच के साथ ही आरोपियों की तलाश कर रही है।

सहायक पुलिस निरीक्षक विठ्ठल पिसल ने मीडिया को बताया कि प्रवीण बाजीराव कांबले और उसकी पत्नी शीतल सुरेंद्र सोनटक्के के खिलाफ पीड़ित शिकायत दर्ज कराई है। उसमें कहा गया है कि दोनों उसे मिले थे। प्रवीण ने बताया था कि मुंबई सेंट्रल जेल का जेलर है। उसकी जानकारी में कुछ लोग किराने का व्यापार करते हैं, जिसमें मोटी कमाई होती है। उसने निवेश का लालच दिया।

पीड़िता ने बताया कि वो कांबले की बातों में आ गया। उसने उनके कहने पर 34.25 लाख रुपए निवेश कर दिए। इस दौरान उसका भरोसा बनाए रखने के लिए आरोपी ने उसे 10.5 लाख रुपए दिए, जिसे उसने प्रॉफिट बताया था। लेकिन कुछ दिनों बाद जब पीड़ित ने उससे संपर्क करने की कोशिश की, तो उसका मोबाइल फोन बंद आया। लगातार कोशिश के बाद भी उनसे संपर्क नहीं हुआ।

इसके बाद पीड़ित ने थाने में आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। उसके आधार पर पुलिस ने प्रवीण बाजीराव कांबले और शीतल सुरेंद्र सोनटक्के के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 (धोखाधड़ी) और संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल दोनों आरोपी फरार चल रहे हैं, लेकिन पुलिस बैंक अकाउंट डिटेल के जरिए उनके बारे में जानकारी एकत्रित कर रही है।

नौकरी दिलाने के नाम पर किसान से 15 लाख की धोखाधड़ी
नवी मुंबई के उरण में एक किसान से 15 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने के आरोप में एक कपल के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। आरोपियों ने पीड़ित को केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय के तहत पीएसयू में नौकरी दिलाने का वादा किया था। इसके साथ ही नौकरी दिलाने के एवज में 15.19 लाख रुपए लिए थे। जब पीड़ित को एहसास हुआ कि उसके साथ धोखाधड़ी हुई है तो उसने पुलिस से संपर्क किया।

पुणे के खेड़ के रहने वाले पीड़ित की शिकायत के आधार पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। पैसे लिए जाने की घटना मई 2022 से मार्च 2024 के बीच हुई है। आरोपी कपल ने पैसे लेने के बाद पीड़ित से संपर्क खत्म कर लिया। यहां तक कि उसने अपना ठिकाना भी बदल लिया है। पुलिस उन्हें पकड़ने के लिए कई जगहों पर छापेमारी कर चुकी है। लेकिन वो अभी तक पुलिस की गिरफ्त में नहीं आए हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular