Wednesday, December 8, 2021
HomeLatest Newsमाइक्रो बैक्टीरियम लेप्रे नामक जीवाणुओं एवं यातांबे रंग दाग धब्बे से होने...

माइक्रो बैक्टीरियम लेप्रे नामक जीवाणुओं एवं यातांबे रंग दाग धब्बे से होने वाले कुष्ठरोग उन्मूलन कार्यक्रम के तहत पेप प्लस – प्लस चलाई जा रही परियोजना तथा एल आर इंडिया संस्था द्वारा प्रस्तुत किये जा रहे नुक्कड़ नाटक

आयुष ओमर

बकेवर ( फ़तेहपुर ) 20 नवम्बर 2021 विकास खण्ड देवमयी क्षेत्र के कस्बो व गांवो मे कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत एन . एल . आर . इंडिया संस्था के द्वारा नुक्कड़ नाटक / सामुदायिक बैठक के माध्यम से ग्राम जाफराबाद , कुँवर पुर , चक्की , तेंदुली एव उमर गहना में समुदाय के लोगों को कुष्ठ रोग के लक्षण , उपचार और बचाव के बारे में जागरूक किया गया । जिसमें अनुसंधान सहायक मनीष कुमार बाजपेयी जी के द्वारा बताया गया कि जिला फतेहपुर में कुष्ठ रोग से बचाव के लिए पेप प्लस प्लस परियोजना चल रही है । इस परियोजना के द्वारा कुष्ठ रोग के संचरण को रोकने के लिए , और कुष्ठ रोग से बचाव के लिए भविष्य में कुष्ठ रोगियों के परिवार के सदस्यों एवँ निकट संपर्क के लोगों को कुष्ठ रोग से बचाव की दवा निशुल्क खिलाई जाएगी ! अनुसंधान सहायक मंजरी के द्वारा कुष्ठ रोग के लक्षण बताते हुए जानकारी दी गयी कि कुष्ठ चमड़ी पर होने वाली एक समान्य बीमारी है . जो माइकोबैक्टिरियम लेप्रे नामक जीवाणु से होता है जिसका लक्षण शरीर पर हल्के यातांबे रंग दाग धब्बे से होता है जो पूरी तरह से सुन्न से रहता है ! कुष्ठ रोग का इलाज एमडीटी है जो कि प्रत्येक सरकारी स्वास्थ केंद्रों पर निशुल्क उपलब्ध है ! इस सामुदायिक बैठक में जाफराबाद ग्राम प्रधान श्रीमती चंदा देवी , पंचायत मित्र राजेंद्र प्रसाद एव आशा बहु राधा देवी उपस्थित थीं ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular