Saturday, March 2, 2024
HomeLatest Newsयह जरूरी है..! शुद्ध श्वास लेने के लिए पौधरोपण संस्कृत..ज्योति बाबा

यह जरूरी है..! शुद्ध श्वास लेने के लिए पौधरोपण संस्कृत..ज्योति बाबा

कानपुर 13 जुलाई। पेड़ का हर अंग करता है दंग यानी पत्तियां टहनी और शाखाएं शोर को सोखती है तेज बारिश का वेग धीमा कर मृदाक्षरण को रोकती हैं जड़े पत्तियां तने पक्षियों जानवरों और कीट पतंगों को आवास मुहैया कराते हैं और जडे मिट्टी के स्थिरीकरण द्वारा क्षरण रोकती हैं तथा पत्तियां वायु के हानिकारक तत्वों को छानने में सक्षम,वातावरण को नम रखने में सहायक और वाष्पोत्सर्जन प्रक्रिया के तहत प्राणवायु का उत्सर्जन करते हैं उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में विमला नर्सिंग एंड फार्मेसी कॉलेज कानपुर व संविधान रक्षक दल के सहयोग से कोरोना मिटाओ नशा हटाओ हरियाली बढ़ाओ अभियान के तहत आयोजित वेबीनार शीर्षक “क्या शुद्ध श्वास लेने के लिए बच्चों में पौधरोपण संस्कृत अनिवार्य..?” में अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कही,ज्योति बाबा ने आगे कहा कि पौधरोपण के लिए हमें स्थानीय जलवायु एवं निवासियों की आवश्यकता के अनुरूप पौधों का चयन करना होगा,ताकि स्थानीय निवासियों की आजीविका के साथ पर्यावरण संरक्षण में भी अहम भूमिका अदा कर सके। फैमिली हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ अजीत सिंह ने कहा कि आठ करोण हेक्टेयर भूमि हवा और पानी के चलते मिट्टी के कटाव से गुजर रही है 50 फ़ीसदी भूमि को इसके चलते गंभीर नुकसान हो रहा है भूमि की उत्पादकता घट रही है और भूमि को सिर्फ पेड़ पौधों के जरिए ही बचाया जा सकता है। संविधान रक्षक दल के राष्ट्रीय संयोजक राजेंद्र कश्यप ने कहा कि पेड़ पौधे धूप की अल्ट्रावॉयलेट किरणों के असर को 50 फ़ीसदी तक कम कर देते हैं यह किरणें त्वचा के कैंसर के लिए जिम्मेदार होती हैं, इसीलिए स्कूलों में पेड़ लगाने से बच्चे धूप की हानिकारक किरणों से सुरक्षित रहते हैं। वेबीनार का संचालन 3 एम एंटरटेनमेंट के डायरेक्टर अमित गुप्ता व धन्यवाद वरिष्ठ समाजसेवी एवं महासचिव राजवीर सिंह कश्यप ने दिया। अन्य भाग लेने वाले सर्व श्री राकेश चौरसिया,उमेश शुक्ला, दिलीप सैनी,डॉ अजय सचान इत्यादि थे ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular