Friday, February 23, 2024
HomeLatest Newsवित्त विहीन विद्यालयों की मनमानी फीस वसूली से अभिभावकों में रोष व्याप्त

वित्त विहीन विद्यालयों की मनमानी फीस वसूली से अभिभावकों में रोष व्याप्त

मन्नाइस्लाम/आजम मन्सूरी

जहानाबाद(फ़तेहपुर) अभिभावकों का कहना है,स्कूल जब से फीस तब से । इनका मानना है कि कोविड-19 महामारी के चलते पूरे देश मे लागू लाक डाउन के दौरान सभी विद्यालयों में अवकाश घोषित कर दिया गया था तथा सरकार ने बन्दी के दौरान की फीस अप्रैल,मई व जून 2020 तीन माह की शुल्क दबाव बनाकर व धमकाकर न वसूले जाने के कड़े निर्देश जा री किये गए थे तथा फीस वसूली पर रोक लगा दी गई थी और इसके बावजूद भी यदि कोई विद्यालय शासन के आदेश का उल्लंघन करते पाया जाएगा तो उसके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने की हिदायत भी दी गई थी किन्तु इसके बावजूद भी सभी वित्त विहीन विद्यालयों में प्रवेश शुल्क,प्रमोशन शुल्क के नाम पर खुलेआम धड़ल्ले से फीस वसूली जारी है तो वही शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारी सरकार के वफादार अपने कानो में उंगली डालकर बैठे हैं जिसके चलते अभिभावकों को अतिरिक्त आर्थिक बोझ ढोने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है इतना ही नही तमाम शिक्षण संस्थाएं अभिभावकों को फीस न जमा करने पर नाम काट देने व ग्रुप से हटा देने की धमकी भी दी जा रही है जिससे अभिभावक काफी परेशान हैं फीस के सम्बंध में कई अभिभावकों से बात करने पर एक बात उभर कर सामने आयी है कि निजी विद्यालयों के प्रबंधकों द्वारा पुस्तक विक्रेताओं से सांठ-गांठ कर मंहगी पुस्तको को अभिभावकों के सिर पर थोप देते हैं और इस खेल में उनका भारी कमीसन तय होता है और यह अधिभार अभिभावकों को झेलना पड़ता है और इस खेल में सिर्फ एक ही दुकानदार को निर्धारित किया जाता है और अभिभावक जब अपने बच्चे की किताबें लेने उस दुकानदार के पास जाता है तो दुकानदार उसे तरह तरह से प्रताड़ित करता है तथा स्कूल ड्रेस,टाई ,बेल्ट आदि के मोल भाव करने पर दुकानदार यह कहकर अभिभावक को झिड़क देता है लेना हो तो लो वरना दूसरी दुकान में मिलना मुश्किल है एक दुकानदार ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि इस पर बहुत बड़ा खेल चलता है उसने बताया कि हम लोग उस स्कूल के प्रबंधक /प्रधानाचार्य को एडवांस रकम दे देते हैं और शेष रकम बतौर कमीशन बाद में पहुंचा देते हैं इस सब के चलते अभिभावकों को फ़ोन द्वारा धमकी भी दी जाती है कि आपके बच्चे की आन लाइन पढाई हो रही है बच्चे की फीस तुरन्त जमा कर दें अन्यथा बच्चे को ग्रुप से हटा दिया जाएगा और विद्यालय से नाम भी पृथक कर दिया जाएगा जिसको लेकर अभिभावकों में भारी आक्रोश व्याप्त है ।

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular