Saturday, February 24, 2024
HomeLatest Newsविश्व जनसंख्या दिवस की पूर्व संध्या पर ज्योति बाबा का पैगाम

विश्व जनसंख्या दिवस की पूर्व संध्या पर ज्योति बाबा का पैगाम

कानपुर 10 जुलाई। देश में मौजूद जल,जंगल,जमीन,रोटी,कपड़ा मकान और गरीबी,बेरोजगारी भुखमरी आदि समस्याओं के पीछे जनसंख्या विस्फोट प्रमुख रूप से है डिस्ट्रिक्ट कोर्ट,हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में भीड़ का भी मुख्य कारण जनसंख्या विस्फोट ही है उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में संविधान रक्षक दल के सहयोग से विश्व जनसंख्या दिवस की पूर्व संध्या पर कोरोना मिटाओ नशा हटाओ पेड़ लगाओ अभियान के तहत ऑनलाइन वेबीनार “क्या भारत को विकसित राष्ट्र न बनने देने में जनसंख्या विस्फोट प्रमुख कारण है”पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कहीं, ज्योति बाबा ने आगे कहा कि देश में 80% से अधिक अपराधी ऐसे हैं जिनके मां बाप ने हम दो हमारे दो का नियम पालन नहीं किया,इससे स्पष्ट है 50% से अधिक समस्याओं का मूल कारण जनसंख्या विस्फोट है हम जमीन से पानी निकालने में दुनिया में प्रथम हैं जबकि हमारे पास पीने योग्य पानी मात्र 4% है ज्योति बाबा ने कहा कि वर्ल्ड हैप्पीनेस इंडेक्स में 140 वे स्थान पर ह्यूमन डेवलपमेंट इंडेक्स में 130 वे स्थान पर ग्लोबल हंगर इंडेक्स में 103 वे स्थान पर है इस प्रकार आज की तारीख में वर्ल्ड रैंकिंग में केवल जनसंख्या विस्फोट में प्रथम स्थान पर भारत है जो हमारी प्रगति में सबसे बड़ी बाधा बन चुकी है। विश्नोई डेंटल हॉस्पिटल के डॉक्टर मनीष बिश्नोई ने जोर देकर कहा कि जनसंख्या विस्फोट के कारण वायु, ध्वनि प्रदूषण,मृदा प्रदूषण और जल प्रदूषण के साथ युवा नशाखोरी बढ़ती जा रही है। जिसके चलते कोरोना महामारी का रूप भी धारण कर रही है इसीलिए अभी वक्त है हम दो हमारे दो के मंत्र को कानून सम्मत तरीके से अपनाएं । फैमिली हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ अजीत सिंह ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून पर अब देरी ना की जाए,यदि संसाधनों की बात करें तो हमारे पास कृषि योग्य भूमि दुनिया की लगभग 2% और पीने का पानी 4% है लेकिन जनसंख्या 20% है भारत परकैपिटा जीडीपी में विश्व में 139 वे स्थान पर है। वेबीनार का संचालन अमित गुप्ता डायरेक्टर 3m एंटरटेनमेंट धन्यवाद समाजसेवी राकेश चौरसिया ने दिया । अन्य प्रमुख विचारक राजेंद्र कश्यप आलोक मेहरोत्रा डॉ अजय सचान अमर सिंह स्वामी गीता इत्यादि थी ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular